सौभाग्य योजना (सहज बिजली हर घर योजना) : Saubhagya Yojna

सौभाग्य सरकारी सहायता योजना |Saubhagya Sarkari Yojana हमारे देश को आज़ाद हुए 70 वर्ष से भी ज्यादा हो गए है लेकिन देश में 4 करोड़ से ज्यादा घर ऐसे हैं जिन्हें बिजली कनेक्शन नहीं है। ग्रामीण भारत में इन करोड़ो गरीब परिवारों की परेशानी को कम करने के लिए सरकार ने एक योजना को आरम्भ किया है।

योजना के अंतर्गत सरकार प्रत्येक घर में बिजली को  उपलब्ध कराने के सपने को साकार करने के लिए “सहज बिजली हर घर योजना” (Saubhagya Yojna) का शुभारंभ किया। इस योजना के अनुसार बिजली की उपलब्धता को पूरा करने का लक्ष्य 2019 तक रखा गया। देशभर में लगभग 70.38% घरों में बिजली का कनेक्शन है।

योजना का नाम: सहज बिजली हर घर योजना (Saubhagya Yojna)

घोसित सरकार: केंद्रीय सरकार

शुरू हुई: 25 सितम्बर 2017

योजना की अवधि: 31 मार्च 2019  

सौभाग्य योजना क्या है ?

  • जिन लोगों का नाम साल 2011 की सामाजिक – आर्थिक जनगणना में है उन्हें इस योजना के तहत मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया जाता है।
  • देश के जिन इलाकों में अभी तक बिजली नहीं पहुंची है, वहां इस योजना के तहत सरकार हर घर को एक सोलर सिस्टम देगी जिसमें 5 एलइडी बल्ब और एक पंखा होगा।
  • जिन लोगों का नाम सामाजिक – आर्थिक जनगणना में नहीं है, उन्हें बिजली का कनेक्शन से सिर्फ 500 रूपये में मिल जाता है और यह ₹500 भी दस आसान किस्तों में चुका सकते हैं।

सौभाग्य योजना का उद्देश्य:

  • शैक्षिक और स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार, जनता की सुरक्षा और संचार के साधन को और बेहतर बनाना।  मुख्य रूप से सरकार सौभाग्य योजना के जरिए रोजगार का अवसर बढ़ाना है।
  • सौभाग्य योजना से लोगों, खासकर महिलाओं के जीवन स्तर में सुधार होगा  अंधेरे में महिलाओं का घर से बाहर निकलना मुश्किल हो जाता है।
  • सरकार सौभाग्य योजना के तहत खुद गरीब परिवार के घर पर जाकर बिजली कनेक्शन देगी, जिस बिजली कनेक्शन के लिए गरीब लोगों को मुखिया और सरकारी दफ्तरों में चक्कर लगाने पड़ते थे, उन्हें इस योजना से आसानी से बिजली कनेक्शन मिल जाएगा।
  • सौभाग्य योजना का मुख्य उद्देश्य देश के हर गांव, हर शहर में, हर घर में बिजली पहुंचाना है और सरकार ने 31 मार्च 2019 तक इस योजना को पूरा करने का लक्ष्य रखा है।

योजना का लक्ष्य: भारत के हर घर में बिजली पहुंचाना।

क्या है आपका फायदा:

  1. इस योजना के तहत सभी गांव का बिजलीकारण होगा।
  2. इस योजना के तहत ट्रांसफार्मर, मीटर्स और तारों के लिए सब्सिडी मिलेगी।
  3. जहां बिजली नहीं जा सकती वहां “सोलर पैक” दिया जाएगा।
  4. 5 एलईडी लाइट, 1 DC पंखा, एक DC पावर प्लग और 5 वर्ष तक इसकी मरम्मत का खर्च सरकार उठाएगी।
  5. बिजली कनेक्शन के लिए हर गांव में कैंप(Camp) लगेगा।
  6. योजना से गांवों में रोजगार बढ़ेगा।
  7. गरीब 10 किस्तों(EMI) में पैसा दे सकते हैं।

सौभाग्य योजना का कुल बजट:

  • ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 14,025 करोड़ रुपए। 
  • शहरी क्षेत्रों के लिए 50 करोड़ रुपए।

सौभाग्य योजना से जुड़े दस्तावेज:

  1. आधार कार्ड
  2. वोटर ID कार्ड
  3. बैंक खाता
  4. मोबाइल नंबर
  5. ड्राइविंग लाइसेंस(DL)

सौभाग्य योजना के तहत चयनित इलाकों की सूची:

  • उत्तर प्रदेश,
  • बिहार,
  • मध्य प्रदेश,
  • उड़ीसा,
  • झारखंड,
  • जम्मू और कश्मीर,
  • राजस्थान,
  • पूर्वोत्तर के राज्य।

इस पोर्टल की मदद से कोई भी व्यक्ति बिजली कनेक्शन के लिए अपना नाम रजिस्टर करवा सकता है। और साथ ही इस वेब पोर्टल पर जाकर ये जानकारी भी प्राप्त कर सकता है कि उसको कब तक बिजली कनेक्शन दिया जाएगा |

Saubhagya Yojna Portal

सौभाग्य योजना से जुड़ी एक मोबाइल ऐप भी है जिसके जरिए लोग योजना के तहत अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते  है।

Toll Free Helpline Nos: क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.