प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (PMKSY) | Pradhan Mantri Krishi Sichai Yojna

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई सरकारी सहायता योजना (PMKSY) Sarkari Yojana किसानों के हित तथा प्रगति के लिए सरकार ने कई सारी योजनाओं का शुरूआत की है। अच्‍छी खेती के लिए पानी बहुत ही आवश्‍यक होता हैं। कई बार वर्षा न होने के कारण कई शहर सूखे की चपेट में आ जाते है, पानी न होने के कारण फसल सूख जाती है। कई किसान जिस कारण से आत्‍महत्‍या कर लेते है। इसी बात को ध्‍यान में रखते हुए सरकार ने प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना की शुरूआत की है।

  • हमारे देश की अर्थव्‍यवस्‍था का सबसे बड़ा हिस्‍सा कृषि क्षेत्र पर निर्भर हैं। वर्षों से भारत को कृषि प्रधान देश कहा जाता है। हर वर्ष देश की बढ़ती आबादी के कारण देश में अनाज की मांग भी बढ़ती जा रही है।

अच्‍छी फसल के लिए सरकार द्वारा किसानों के लिए वर्कशॉप आयोजित की जा रही है जिसके तहत किसानों को पानी का उपयोग, खाद के बारे में और साथ ही अन्‍य खेती संबंधी जानकारी देकर जागरूक किया जा रहा हैप्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अंतर्गत किसानों को सिचाईं के नए साधन के बारे में बताया जा सके।

योजना का नाम प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना
योजना की शुरूआत 1 जुलाई 2015   
योजना की टैग लाइन मोर क्रॉप पर ड्राप (More Crop per Drop)

हर देश का प्रथम जरूरत अनाज होता है, अनाज के बिना जीवन नष्‍ट हो जाता है। किसान ही होते है जो देश के अमीर से अमीर लोगों को अनाज मुहैया कराता है। लेकिन हमारे देश में किसानों की स्‍थति बहुत खराब है। इन सभी बातों की एक ही वजह है किसानों को उनका हक नहीं मिल रहा है, और कई बार किसानों को अपने हकों के बारे में जानकारी नहीं होती है ।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत सिंचाई लाभ कार्यक्रम, नदियों का विकास, गंगा संरक्षण आदि योजनाओं के साथ मिल कर कार्य करेगी।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के मुख्‍य उद्देश्‍य:

  • पानी का प्रबंधन और आवंटन की ओर मुख्‍य रूप से ध्‍यान दिया जायेगा।
  • खेती के मुख्‍य क्षेत्रों में जलाशय को विकसित किया जायेगा।
  • खेती की भूमि के पास ही जल स्‍त्रो को बनाया जाएगा, अगर बने है तो उन्‍हें बड़ा किया जाएगा।
  • वर्षा के पानी को एकत्र करके सिंचाई के लिए उपयोग करना भी सिखाया जाएगा।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना की विशेषताएँ:

  • प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के द्वारा खेती के लिए भूमि का विस्‍तार करना
  • पानी का उपयोग सही तरीके से सही जगह पर हो।
  • कृषि विभाग में पानी का सही प्रबंधन और उसका सही रख रखाव हो।
  • इस योजना के द्वारा सरकार कृषि विभाग में बेहतर से बेहतर सिंचाई सुविधा देना चाहती है।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना हर खेत में पानी को ध्‍यान में रखकर कार्य कर रही है, जिसका अर्थ है देश के हर खेत को पानी का सुविधा दी जाए। इस योजना के तहत किसानों को नए-नए यंत्र, खाद और खेती से जुड़ी अन्‍य जानकारी भी दी जाएगी, ताकि उत्‍पादन में वृद्धि की जा सके।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY)

इस योजना के तहत पहले पाँच वर्षों में 50 हजार करोड़ की राशि खर्च की जाएगी। देश के सभी राज्‍यों को इस योजना में जितना खर्चा होगा उसका 75%  की राशि दी जायेगी, बाकी का 25%   का खर्च राज्‍य सरकार को उठाना होगा। राज्‍य सरकार को केन्‍द्रीय सरकार द्वारा दी गई राशि के अलावा अतिरिक्‍त खर्च करना जरूरी होगा, जिससे विकास कार्य अच्‍छे से हो सके। देश के ऊचाई वाले स्‍थान उत्‍तरी पूर्व के राज्‍यों में कंन्‍द्रीय सरकार इस योजना के तहत 90% की राशि राज्‍य सरकार को प्रदान करेगी और राज्‍य को सिर्फ 10% का खर्च उठाना होगा।

  • इस योजना के द्वारा भारत के बहुत से किसानों का फायदा मिलेगा। देश में ऐसे बहुत से किसान है जो सिंचाई के लिए पर्याप्‍त पानी न मिल पाने के कारण उन्‍हें खेती करना छोड़ना पड़ता है या छोड़ देते है। लेकिन इस योजना के द्वारा केन्‍द्रीय एवं राज्‍य सरकार खेती के नए रास्‍ते खोलेगी, साथ ही बेहतर सिंचाई की सुविधा मुहैया कराएगी।
  • मई 2018 में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी जी ने एक नई योजना कि घोषणा की है जो माइक्रों इरीगेशन को फंड प्रदान करेगी। माइक्रों सिंचाई फंड योजना वित्‍त मंत्रालय द्वारा लागू की जाएगी। इसे पूरे देश में एक साथ लागू की जाएगी जिसके लिए अनुमानित 5 हजार करोड़ रूपये की आवश्‍यकता होगी।

माइक्रो सिंचाई / अन्य उपायों के लिए मोबाइल ऐप्लिकेशन

One thought on “प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (PMKSY) | Pradhan Mantri Krishi Sichai Yojna”

Leave a Reply

Your email address will not be published.