mKisan पोर्टल

mKisan SMS पोर्टल किसानों के लिए उनकी भाषा में कृषि पद्धतियों और स्‍थान की पंसद के अनुसार जानकारी व सेवाएँ और परामर्श देने के लिए केंद्रीय और सभी राज्‍य सरकारों व कृषि के क्षेत्र में संगठनों और संबंधित क्षेत्रों को सक्षम बनाता है।

कृषि विस्‍तार (प्रयोगशाला से खेत तक अनुसंधान विस्‍तार) के भाग के रूप में राष्‍ट्रीय ई शासन-कृषि योजना के अंतर्गत सेवाओं को किसानों तक पहुँचाने के विभिन्‍न तरीकों की परिकल्‍पना की गई है। इनमें पिको प्रोजेक्‍टर और छोटे उपकरणों से सुसज्‍जित विस्‍तार कर्मियों की पहुंच के साथ मिलकर विभागीय कार्यालयों में स्‍क्रीन कियोस्‍क, सामान्‍य सेवा केंद्र, किसान कॉल सेंटर, और इंटरनेट शामिल हैं। हालांकि, मोबादल टेलीफोन (इंटरनेट या बिना इंटरनेट) कृषि विस्‍तार का सबसे शक्‍तिशाली और सर्वव्‍यापी साधन है।

  • कृषि एवं सहकारिता विभाग की अपनी टीम द्वारा सोची व विकसित इस परियोजना ने वैज्ञानिकों, विशेषज्ञों और सरकार के अधिकारियों की मोबाइन फोन के माध्‍यम से ब्‍लॉक स्‍तर तक किसानों को परामर्श प्रदान करने सूचना देने की पहुँच हो बढ़ाया है।

यह संदेश समय एवं किसानों की विशिष्‍ट जरूरतों और प्रासंगिकता के अनुसार ही भेजे जाते हैं। इन संदेशों के बाद और अधिक जानकारी पाने के लिए किसान कॉल सेंटर में कॉल की भारी आमद उत्‍पन्‍न हो जाती है।

  • यूएसएसडी (असंरचित पूरक सेता डेटा), आईवीआरएस (इंटरएक्‍टिव वायस रिस्‍पांस सिस्‍टम) और पुल एसएमएस इत्‍यादि सेवाओं ने किसानो और अन्‍य हित धारको को न केवल प्रसारित संदेशों को प्राप्‍त करने के लिए सक्षम बनाया है, बल्‍कि यह सब सेवाएँ बिना इंटरनेट वाले मोबाइल पर भी प्राप्‍त की जा सकती हैं। अर्द्ध साक्षर और निरक्षर किसानों को भी आवाज द्वारा संदेशों को पहुँचाने के लिए लक्षित कर रहें हैं।

Register for SMS:- click here

Login mKisan:- click here

KCC Jankari ke liye click karein

Leave a Reply

Your email address will not be published.