स्‍मार्ट सिटी मिशन | Smart City Mission

स्‍मार्ट सिटी मिशन (Smart City Mission) सरकार द्वारा शुरू किया गया एक बहुत बड़ा मिशन है, इसके तहत देश के हर राज्‍य में कम से कम 1 स्‍मार्ट सिटी होगी।  इस मिशन के तहत 100 शहरों को स्‍मार्ट सिटी बनाने का निर्णय सरकार द्वारा लिया गया है। स्‍मार्ट सिटी में सबसे अधिक उत्‍तर प्रदेश के नाम सम्‍मिलित है।

स्मार्ट सिटी क्या है?

स्मार्ट सिटी की संकल्पना, शहर-दर-शहर और देश-दर-देश भिन्‍न होती है जो विकास के स्तर, परिवर्तन और सुधार की इच्छा, शहर के निवासियों के संसाधनों और उनकी आकांक्षाओं पर निर्भर करता है। ऐसे में, स्मार्ट सिटी का भारत में अलग अर्थ होगा, जैसे कि यूरोप से। भारत में भी स्मार्ट सिटी को परिभाषित करने का कोई एक तरीका है।

25 जून 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्‍मार्ट सिटी मिशन की घोषणा देशवासियों के सामने की।

देश में जो बड़े शहर है उनमें सभी सुविधाएँ होती है इस कारण से वहां का विद्यार्थी सामान्‍य शहर के तुलना में स्‍मार्ट होता है|छोटेशहरों के विद्यार्थियों में भी कला, ज्ञान के बहुत अच्‍छे उदहारण मिले है परंतु उन्‍हें उचित प्‍लेटफार्म नहीं मिल पाता है, लेकिन स्‍मार्ट सिटी मिशन के तहत उन को भी उचित समय पर आगे बढ़ने का अवसर प्रदान होगा।

  • प्रत्‍येक राज्‍य में एक स्‍मार्ट सिटी होगी।
  • स्‍मार्ट सिटी का कार्य 2 चरणों में होगा एक तो नई स्‍मार्ट सिटी का निर्माण होगा और दूसरा पुरानी सिटी का नवीनीकरण होगा।
  • जिस शहर की आबादी 1 लाख से अधिक है उस शहर को स्‍मार्ट सिटी बनाया जाएगा।
  • जिन शहरों को स्‍मार्ट सिटी बनाना है उसमें म्‍यूनिसिपल कॉरपोरेशन, बिजली की व्‍यवस्‍था एवं पानी की व्‍यवस्‍था और यातायात की व्‍यवस्‍था होनी जरूरी है। साथ ही वह आईटी इस्‍तेमाल शहर हो।

स्‍मार्ट सिटी मिशन के लाभ

  • गाँव के विकास में मदद होगी
  • बेरोजगारी कम होगी, रोजगार पाने के अवसर मिलेगे
  • देश का विकास होगा
  • गरीबी कम होगी

स्‍मार्ट सिटी मिशन की सुख-सुविधाएँ

  • 24 घंटे बिजली होगी
  • पानी की सुविधा होगी
  • यातायात सुविधा होगी
  • हरियाली होगी
  • पूरे शहर में Wifi उपलब्‍ध होगा
  • शिक्षा की उचित व्‍यवस्‍था होगी
  • शहर स्‍वच्‍छ होगा और कूड़ेदान की उचित व्‍यवस्‍था होगी
  • स्‍मार्ट पुलिस स्‍टेशन भी होगा।

Read: Right To Information(RTI) | सूचना का अधिकार

देश की पहली स्‍मार्ट सिटी के विकास का कार्य वर्ष 2011 में अहमदाबाद के पास शुरू हो चुका है, जिसको गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंशल टेक(GIFT) नाम दिया गया है। यह सिटी अन्‍य सिटी के लिए उदाहरण है।

स्‍मार्ट सिटी मिशन के शहरों की सूची

क्रमांक राज्‍य का नाम शहरों की संख्या 
1 उत्‍तर प्रदेश 12
2 तमिलनाडू 12  
3 महाराष्‍ट्र 10  
4 मध्‍यप्रदेश 7  
5 गुजरात 6  
6 कर्नाटक 6  
7 पश्‍चिम बंगाल 4  
8 राजस्‍थान 4  
9 बिहार 3  
10 आंध्र प्रदेश 3  
11 पंजाब 3  
12 हरियाणा 2  
13 तेलंगाना 2  
14 उड़ीसा 2  
15 छत्‍तीसगढ़ 2  
16 केरल 1  
17 झारखंड 1  
18 असम 1  
19 हिमाचल प्रदेश 1  
20 गोवा1
21 दिल्‍ली 1  
22 चंडीगढ़ 1  
23 अरुणाचल प्रदेश 1  

स्‍मार्ट सिटी योजना के लिए केंद्र सरकार ने 5 वर्षों में 48 हजार करोड़ रूपये के बजट का आवंटन किया है। इसमें प्रति वर्ष प्रति शहर के लिए 100 करोड़ रू की वित्‍तीय सहायता प्रदान करने का प्रस्‍ताव है। इसके अतिरिक्‍त स्‍मार्ट सिटी के विकास के लिए सरकार या सूएलबी फण्‍ड में से 1 लाख करोड़ रू भी उपलब्‍ध कराए जाएगे।

सामान्य प्रश्न (एफएक्यू)

संपर्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.